15 नवम्बर 2018, गुरुवार | समय 18:09:59 Hrs
Republic Hindi Logo

पटना: जहानाबाद सांसद अरुण कुमार अपनी बेबाकी के लिए जाने जाते रहे हैं और एक बार फिर उन्होंने बड़ी बेबाकी से एक बड़ा बयान दिया है. दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव को तत्काल जेल से मुक्त किया जाना चाहिए. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को जेल के अंदर डालने की मांग भी की. उन्होंने यह भी कहा कि सवाल जब भ्रष्टाचार और अनैतिकता से लड़ाई का है तो ऐसे में नीतीश कुमार और सुशील मोदी के साथ मिलकर कैसे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ी जा सकती है.

चारा घोटाले से 10 गुना बड़ा है सृजन घोटाला

लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला का मामला है और उनको चारा घोटाले के मामले में जेल में डाला गया है. यह भी कहा कि चारा घोटाले में सभी पार्टियों के नेताओं ने पैसा लिया लेकिन अकेले लालू को जेल भोगना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि घोटाला आठ सौ करोड़ रूपए का था लेकिन सृजन घोटाला तो आठ हजार करोड़ रुपए का है. सृजन के अलावा और भी घोटाले हुए हैं तो ऐसे में लालू को जेल से बाहर लाकर सुशील कुमार मोदी और नीतीश कुमार को जेल के अंदर डाला जाना चाहिए. उन्होंने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि सृजन घोटाले में इंजीनियर का माथा लगा है और यही कारण है कि सरकार के खजाने से पैसा निकल कर सीधे नीतीश और सुशील मोदी के चहेतों के खाते में चला गया.

अनैतिक कार्यों के संरक्षक के साथ नहीं रह सकता

उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश कुमार और ब्रजेश ठाकुर की एक तस्वीर को लहराते हुए कहा कि क्या अब ऐसे लोगों के साथ रहकर राजनीति करें. दरअसल पत्रकारों ने पूछा कि वे महागठबंधन के संपर्क में हैं तो उन्होंने नीतीश कुमार और ब्रजेश ठाकुर की एक तस्वीर लहराई और कहा कि क्या अब ऐसे लोगों के साथ में रहेंगे.

उपेंद्र कुशवाहा के मसले पर आंदोलन की चेतावनी

सांसद अरुण कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से माफी की मांग की और कहा कि उनको अविलंब उपेंद्र कुशवाहा से माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि जिस कार्यक्रम में उपेंद्र कुशवाहा के लिए शब्द का प्रयोग किया गया था, उसमें जिस तरह नीतीश के दरबारियों द्वारा ठहाके लगाए वह वाकई खेद जनक है.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus